diya kumari elections

29 अप्रेल को लोकतंत्र का दशहरा, अधर्म पर होगी धर्म की विजय – दियाकुमारी

मीरा माँ की धरती मेड़ता को नमन करते हुए भावुक हुई भारतीय जनता पार्टी की लोकप्रिय प्रत्याशी दियाकुमारी ने कहा कि दशहरे का पर्व अधर्म पर धर्म की विजय के लिए मनाया जाता है, 29 अप्रेल को लोकतंत्र का दशहरा है, आपका एक एक वोट कीमती है और इसी वोट के माध्यम से विजय द्वार तक पहुंच कर इस राष्ट्र की अस्मिता को सुरक्षित हाथों में सौंपना है। 
दियाकुमारी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि राष्ट्र विरोधी ताकते भारत माता को एक बार फिर गुलामी की जंजीरों मे झकड़ना चाहती है लेकिन इस देश का युवा सजग है, अपने वोट की ताकत को पहचान रहा है। हम सब मिलकर भारत माता को एक बार फिर नरेंद्र मोदी के सुरक्षित हाथों में सोपेंगे। 


दियाकुमारी ने कहा कि मेड़ता की धरती पर जो सम्मान, प्रेम और समर्थन मुझे मिल रहा है ये सब भक्त शिरोमणि माँ मीरा बाई का आशीर्वाद है। मेड़ता और मेवाड़ का अनूठा बंधन रहा है। मेड़ता जहाँ भक्ति का प्रतीक है तो मेवाड़ शक्ति का। मीरा बाई के बिना मेवाड़ का जिक्र अधूरा है। जहां भक्ति और शक्ति का संगम हो जाता है वह स्थान तीर्थ बन जाता है और मेड़ता किसी तीर्थ से कम नहीं है। 


मेड़ता में प्रातः10 बजे श्रीचारभुजा मंदिर के दर्शन कर पार्टी कार्यालय का उद्घाटन किया।
इस अवसर पर कांग्रेस के कद्दावर नेता लक्ष्मण बगरू मेघवाल जिनको विधानसभा चुनाव में बतौर निर्दलीय 47 हजार वोट मीले थे भाजपा में शामिल हो गए। प्रत्याशी दियाकुमारी ने बगरू को भाजपा की सदस्यता दिलाई।


इसके उपरांत डांगावास, नेतडिया, गवारडी, लाम्पोलाई , बड़ी पादू, छोटी पादू, सहित अनेक पंचायतों का दौरा कर भाजपा के पक्ष में मतदान करने की अपील की। इस दौरान प्रदेश महामंत्री वीरमदेव सिंह,  रामप्रताप बग्गड़, नवरतनमल सिंघवी, श्रीकिशन पालीवाल, नन्दलाल सिंघवी, सहित सेंकडो कार्यकर्ता उपस्थित थे।

अपनी टिप्पणी छोड़ें